कच्ची कैरी खाने के 12 बड़े फायदे , खाने के तरीके और कुछ नुकसान | All About Raw Mangoes (kacchi kairi)

फलों के राजा आम का मौसम शुरू हो चुका हैं| कुछ लोग पक्के आम को खाना पसंद करते हैं, तो कुछ कच्चे आम के शौकीन होते हैं, जिसे कई लोग कच्ची कैरी के नाम से भी जानते हैं| कच्ची कैरी कई प्रकार से भारतीय रसोई में इस्तेमाल में लायी जाती है | स्वाद में ये फल जितना स्वादिष्ट होता है, उतना ही हमारे शरीर के लिए फायदेमंद भी होता है | कच्ची कैरी के खाने से हमारे शरीर को कई रोगों से बचाव में मदद मिलती हैं और इसका उपयोग घरेलू इलाज में करने सालो से किया जा रहा हैं | Dardmukti के इस लेख में हम आज कच्ची कैरी खाने के फायदे, तरीके और अति सेवन से होने वाले कुछ नुकसान के बारे में जानेंगे

kacchi kairi khane ke fayde, tarike or nuksan

कच्ची कैरी खाने के फायदे – Benefits of eating raw mangoes (kacchi kairi)

कच्ची कैरी खाने से हमारे शरीर को कई तरह से लाभ मिलता हैं, जो इस प्रकार हैं-

 

1. पेट की कब्ज़, गैस को दूर करे

 कच्ची कैरी का सेवन करने से गर्मियों में होने वाली पेट की समस्याएं कब्ज़ गैस, एसिडिटी को दूर किया जा सकता हैं।  एक शोध में पता चला है कि कच्चे कैरी में मौजूद फाइबर कब्ज की समस्या को दूर करने में मदद करता है। इसके अलावा कच्चा आम खाने से हमारे शरीर में पानी की कमी भी दूर हो जाती है जिससे पाचन संबंधी समस्याएं दूर रहती है। कच्ची कैरी में मौजूद पेक्टिन हमारी आंतों की सफाई करता है जिससे पेट की समस्याएं दूर हो जाती है। कच्चे आम में चुटकी भर नमक और जीरा पाउडर मिलाकर खाने से कब्ज और गैस की समस्या मैं आराम मिलता है।

 

 

2. रक्त विकार दूर करने में कच्ची कैरी से लाभ

शरीर में रक्त विकार होने से हमें कई तरह की गंभीर बीमारियां जैसे ब्लड कैंसर, हैजा, तपेदिक होने का खतरा रहता है। कच्ची कैरी का सेवन करने से आप इन खतरों से बच सकते हो। इसके अलावा शरीर में खून की कमी भी दूर होती है। इसलिए जिन लोगों को रक्त विकार संबंधित समस्याएं हैं  उन्हें अपने आहार में कच्चे आम को जरूर शामिल करना चाहिए। 

 

 3. मधुमेह नियंत्रण में कच्ची कैरी से लाभ

कच्ची कैरी खाना मधुमेह के रोगियों को फायदा पहुंचाता है। कच्ची केरी ही नहीं आम के पेड़ का प्रत्येक हिस्सा, जड़, फूल, छाल किसी ना किसी तरह से रोग के उपचार में प्रयोग किया जाता हैं। एनसीबीआई के एक शोध में पता चला है कि आम के पेड़  के  प्रत्येक भाग में एंटीबायोटिक प्रभाव होता हैं। यह प्रभाव रक्त में शर्करा के स्तर को नियंत्रित करने में  मदद कर सकता है। कच्ची केरी छिलके सहित पानी में उबालकर इस पानी को छानकर काली मिर्च, सेंधा नमक, और निम्बू के रस को मिलाकर पीने से ब्लड शुगर को नियंत्रित करने में मदद मिलती हैं। 

 

4. आंखों के लिए कच्ची कैरी से लाभ 

कच्ची कैरी खाना हमारी आंखों के लिए भी फायदेमंद साबित हो सकता है। कच्ची केरी में विटामिन ए भरपूर मात्रा में पाया जाता है जो हमारी आंखों के स्वास्थ्य के लिए जरूरी है एक रिसर्च में इस बात का पता चला है कि विटामिन ए की कमी से हमें रतौंधी रोग होने की संभावना रहती है। कच्ची कैरी का सेवन करना  हमारी आंखों के लिए और किस तरह से फायदेमंद है इस पर अभी और शोध होने की जरूरत है फिर भी फलों का सेवन करना हमारे शरीर के लिए गुणकारी ही होता है।

 

 

5. कच्ची कैरी डिहाइड्रेशन से बचाये

गर्मियों में कच्ची कैरी खाने का सबसे बड़ा फायदा यह है कि इससे हमारा शरीर डिहाइड्रेशन, लू की चपेट में आने से बच जाता है और शरीर में पानी की कमी भी नहीं होती है। कच्ची कैरी को पानी में उबालकर इसे निचोड़कर चीनी और जीरा मिलाकर पना बनाकर पीने से  गर्मियों में  तापमान के प्रभाव से होने वाले खतरे को कम किया जा सकता है। कच्ची केरी का पना पीने से गर्मियों में ज्यादा पसीना आने की समस्या भी दूर हो जाती है।

 

 

6. कच्ची कैरी से रोगप्रतिरोधक क्षमता बढ़ाये 

कच्ची कैरी खाने का फायदा हमारे शरीर की इम्युनिटी बढ़ाने में भी मिलता है।  कुछ अध्ययन में यह सामने आया है कि आम में इम्यूनोमॉड्यूलेटरी प्रभाव पाया जाता है जो हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है और शरीर में मौजूद हानिकारक बैक्टीरिया को नष्ट करने में मदद करता है। जिन लोगों की प्रतिरक्षा प्रणाली कमजोर है उन लोगों को कच्ची कैरी को अपने आहार में जरूर शामिल करना चाहिए क्योंकि कमजोर रोग प्रतिरोधक क्षमता हमारे शरीर में कई बीमारियों का कारण बनती है।

 

 

7. गर्भावस्था में कच्ची कैरी खाने के फायदे

गर्भवती महिलाओं के लिए कच्ची कैरी का सेवन करना बहुत फायदेमंद है। यह गर्भावस्था में होने वाली कई तरह की समस्याओं को दूर करने में मदद करती है। कच्ची कैरी खाने से गर्भवती महिलाओं में एंटीऑक्सीडेंट क्षमता बढ़ती हैं और  इससे अल्सर जैसी समस्याओं में भी आराम मिलता है  ऐसा एक रिसर्च में सामने आया है। गर्भावस्था के दौरान होने वाली कब्ज, गैस और उल्टी की  समस्याओं को दूर किया जा सकता हैं। फिर भी गर्भवती महिलाओं को कच्ची केरी के सेवन से पहले  अपने डॉक्टर से परामर्श जरूर लेना चाहिए।

 

 

8. वजन कम करने में फायदेमंद 

कच्ची कैरी खाने का फायदा हमारे शरीर का वजन कम करने में भी मिलता है। कच्चा आम फाइबर, विटामिन और केरोटीन का एक अच्छा स्रोत है। कच्ची कैरी खाने से हमारे शरीर की पाचन संबंधी समस्याएं दूर होती है जिससे मेटाबॉलिज्म मैं सुधार होता है जिससे हमारे शरीर की अतिरिक्त चर्बी कम होने लगती हैं और धीरे-2 हमारे शरीर का वजन कम हो जाता हैं।

 

 

9. दांतों और मसूड़ो के लिए फायदेमंद  

कच्ची कैरी का सेवन हमारे दांत और मसूड़ों के लिए भी लाभदायक है । कच्चे आम एंटीऑक्सीडेंट और विटामिन सी से भरपूर होते हैं जो हमारे दांतो को मजबूती प्रदान करते हैं। कच्चे आम को चबाकर खाने से हमारे दांत साफ होते हैं और मुंह से बदबू आने की समस्या भी दूर हो जाती है।  कच्ची कैरी खाने से मसूड़ों से खून आना की परेशानी भी दूर होती है।

 

 

10. कच्ची कैरी के लाभ बालो के लिए 

कच्चा आम विटामिन और पोषक तत्वों से भरपूर होता है आपके बालों के लिए भी फायदेमंद साबित हो सकता है । कच्चे आम का रस निकालकर इसे नारियल तेल में मिलाकर लगाने से बालों की ग्रोथ बढ़ती है। इसके रस बालों में लगाने से डैंड्रफ की समस्या कम हो जाती है। कच्चे आम और एलोवेरा के गूदे को मिलाकर पीसकर पेस्ट बनाकर बालों में लगाने से बाल लंबे और घने बनते हैं।

 

 

11. स्कर्वी रोग में कच्ची कैरी खाना लाभदायक 

कच्ची केरी के सेवन से स्कर्वी रोग होने की संभावना को कम किया जा सकता है। स्कर्वी रोग विटामिन सी की कमी से होता है। कच्चे आम में विटामिन सी भरपूर मात्रा में पाया जाता है जो इस रोग के होने के खतरे को कम करता है।

 

 

12. बवासीर में कच्ची कैरी से फायदा

बवासीर के मरीजो के लिए कच्ची कैरी का सेवन करना फायदेमंद साबित हो सकता हैं| जैसा की आप जानते है कि बवासीर का असली कारण कब्ज़ को माना गया हैं | कच्ची कैरी फाइबर का एक अच्छा स्त्रोत है जो पेट के पाचन संबंधित समस्याओ को दूर करने में मदद करता है | कच्ची कैरी के सेवन से मल की कठोरता भी कम हो जाती हैं जिससे शोच करते वक़्त होने वाली तकलीफ में आराम मिलता हैं |

 

कच्ची कैरी के विटामिन (पोषक तत्व) – Nutrition elements of raw mangoes (kacchi kairi)

कच्ची कैरी में कौन-2 से विटामिन (पौषक तत्व ) पाए जाते हैं इसकी जानकारी आपको टेबल के माध्यम से नीचे दी गयी हैं |

पोषक तत्व मात्रा प्रति 100 ग्राम
कार्बोहाइड्रेट 14.98 ग्राम
प्रोटीन 0.82 ग्राम
कैल्शियम 11 मिलीग्राम
फास्फोरस 14 मिलीग्राम
मैग्नीशियम  10मिलीग्राम
पोटेशियम 168 मिलीग्राम
टोटल लिपिड (फैट) 0.38 ग्राम
फोलेट 43 माइक्रोग्राम
शुगर 13.66 ग्राम
विटामिन सी 36.4 मिलीग्राम
पानी 83.46 ग्राम
ऊर्जा 60 कैलोरी
थियामिन 0.028 मिलीग्राम
फाइबर 1.6 ग्राम
नियासिन 0.669 मिलीग्राम
आयरन 0.16 मिलीग्राम
सोडियम 1 मिलीग्राम
जिंक  0.07 मिलीग्राम
कापर 0.111 मिलीग्राम
केरोटीन बीटा 640 माइक्रोग्राम
सेलेनियम 0.6 माइक्रोग्राम
केरोटीन अल्फ़ा 1 माइक्रोग्राम
विटामिन बी -6 0.119 मिलीग्राम
कोलिन 7.6 ग्राम
ल्यूटिन-जियाजेथिन 23 माइक्रोग्राम
विटामिन ए आरएइ 54  माइक्रोग्राम
विटामिन के 4.2 माइक्रोग्राम
विटामिन ई (अल्फ़ा तोकोफेराल ) 0.9 मिलीग्राम
फेटी एसिड, टोटल सेचुरेटेड 0.092 ग्राम
फ्लोराइड 7.8 माइक्रोग्राम
फेटी एसिड ,टोटल मोनो सेचुरेटेड 0.14 ग्राम
फेटी एसिड, टोटल अनसेचुरेटेड 0.071 ग्राम

कच्ची कैरी खाने के तरीके और उपयोग – Methods and uses of eating raw mangoes:-

कच्ची कैरी खाने के फायदे तो हमने  जान लिये और अब कच्ची केरी का किस तरह खाने में अलग अलग तरीके से उपयोग किया जाता है यह भी जान लेते हैं

     1.   कच्ची कैरी का आप घर पर अचार बनाकर सेवन कर सकते हैं। इसका  अचार आपको मार्केट में भी आसानी से मिल जाता है।

2.   कच्ची कैरी की चटनी भी आसानी से बनाई जा सकती है।  इसकी चटनी खाने में बहुत स्वादिष्ट लगती है।

3.   कच्ची कैरी का पना भी आप बनाकर पी सकते हो। ये आपको  गर्मी से राहत दिलाता है। कच्ची कैरी को उबालकर इसका पना बनाया जाता है।

4.   कच्ची केरी के मुरब्बे को भी कई लोग बहुत पसंद करते हैं ।

5.   कच्चे आम का सेवन अमचूर पाउडर के रूप में भी किया जाता है। इसका इस्तेमाल खाने को स्वादिष्ट बनाने में किया जाता है।

6.   कच्ची केरी का आप शरबत बनाकर भी पी सकते हैं। यह हमारे शरीर के लिए बहुत ही लाभदायक होता है।

7.   कच्ची कैरी की लोंज़ी बनाकर भी आप इसका सेवन कर सकते है| बहुत से लोग इसे खाना पसंद करते हैं|

8.   कच्ची कैरी का कलाकंद का भी आप सेवन कर सकते हैं| इसकी रेसिपी आपको यूट्यूब पर मिल जाएगी या इसे आप मार्केट से भी खरीद सकते हैं

 

इन सब चीजों का सेवन आपको सीमित मात्रा में ही करना चाहिए  क्योंकि किसी भी चीज का अधिक सेवन शरीर के लिए नुकसानदायक होता है।

कच्चा कैरी खाने के नुकसान – Disadvantages of eating raw mangoes (kacchi kairi)

 

कच्ची कैरी खाना कितना फायदेमंद है यह तो हमने जान लिया लेकिन इसका अत्याधिक सेवन करना हमारे शरीर के लिए कितना नुकसानदायक है, यह भी जान लेते हैं।

 

1.   हमने ऊपर इस लेख में जाना कि  कच्चे आम में फाइबर भरपूर मात्रा में पाया जाता है जो हमारे पेट की  पाचन संबंधी समस्या में सुधार करता है, लेकिन फाइबर का अधिक सेवन पेट में सूजन, दर्द और एसिडिटी की समस्या भी उत्पन्न कर सकता है। इसलिए कच्ची कैरी से लाभ पाने के लिए इसका सीमित मात्रा में ही सेवन करें।

2.   कच्ची केरी स्वाद में खट्टी होती है। अगर आपको खटाई खाने से कोई एलर्जी होती है। आप इसका सेवन डॉक्टर के परामर्श से और सीमित मात्रा में करें।

3.   कच्ची कैरी खाने से ब्लड शुगर कम होता है जो हाई ब्लड प्रेशर के मरीजों के लिए तो फायदेमंद है। लेकिन यह लो ब्लड प्रेशर के मरीजों के लिए परेशानी का कारण बन सकता है ।  इसके अधिक सेवन से रक्त में शर्करा का स्तर बहुत ज्यादा कम हो सकता है।

4.   कच्चे आम के अधिक सेवन उल्टी दस्त  का कारण भी बन सकता है।

5.  कच्ची कैरी खाने से पहले देख ले कि यह ज्यादा पुरानी और सड़ी गली ना हो। इससे शरीर में अन्य बैक्टीरियल इंफेक्शन होने का खतरा रहता है|


प्रिय पाठकगण इस लेख में हमने जाना कि संतुलित मात्रा में कच्ची कैरी का खाना हमारे शरीर के लिए कितना फायदेमंद हैं| इसके अलावा हमने इसे खाने के अलग-२ तरीके भी जाने जिससे आप कच्ची कैरी को अलग-2 तरह से उपयोग कर सके | अति सेवन और कुछ विशेष परिस्थितियों में इसके सेवन के कुछ नुकसान भी हैं| यदि आपको कच्ची कैरी खाने के बाद कोई एलर्जी हो तो तुरंत डॉक्टर का परामर्श ले| हम उम्मीद करते हैं यह जानकारी आपको अच्छी लगी होगी इसलिए इसे अपने प्रियजन, दोस्तों से जरूर शेयर करे|

 

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल :-

 

Q.कच्ची कैरी (आम) की तासीर कैसी होती हैं?

 A.लोगों के मन में अक्सर ये सवाल आता हैं की कच्ची कैरी की तासीर कैसी होती हैं, आपकी जानकारी के लिए बता दे कि इसकी तासीर ठंडी होती हैं| गर्मियों में इसका सेवन ज्यादा फायदेमंद होता हैं |

 

Q.कच्ची कैरी (आम) का एक दिन में कितनी मात्रा में खाना चाहिये?

 A.किसी भी चीज का कितनी मात्रा में सेवन करे ये शरीर की पाचन शक्ति पर निर्भर करता हैं | फिर भी आप एक दिन में आप २-3 छोटे साइज की कच्ची कैरी का सेवन कर सकते है इससे अधिक सेवन करने से आपको अपच की समस्या हो सकती हैं|

 

Q.क्या कच्चे और पके आम खाने के फायदे एक जैसे होते हैं?

 A.कच्चे आम में पके आम की तुलना में कैलोरी और शुगर की मात्रा कम होती हैं | जिस कारण इन्हें खाने के कुछ फायदे अलग हो सकते और कुछ एक जैसे हो सकते हैं|

 

Q.कच्ची कैरी को कब खा सकते हैं?

 A.कच्चे कैरी को आप कभी भी सुबह नाश्ते, दोपहर और शाम को खाने में आचार, लौंजी, सलाद बनाकर खा सकते हो या खाने के बाद भी खा सकते हो|

 

और पढ़े:-

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top