काले गेहूं की रोटी खाने के 11 बड़े फायदे और कुछ नुकसान | Kale Gehu Ki Roti Khane Ke Fayde

Kale Gehu Ki Roti Khane Ke Fayde Or Nuksan: आजकल की व्यस्ततम लाइफ में लोग अपने स्वास्थ्य पर ध्यान नही दे पाते हैं। जिस कारण उन्हें आगे चलकर कई शारीरिक कठिनाइयों का सामना करना पड़ता हैं। आपने गेहूं के आटे की रोटी जरूर खाई होगी, लेकिन काले गेहूं के बारे में कम ही लोग जानते हैं। शनल एग्री फूड बायोटेक्नोलॉजी इंस्टीट्यूट के एक रिसर्च में यह पाया गया हैं कि काले, नीले, जमुनी रंग के गेहूं, सामान्य गेंहूँ की तुलना में अधिक फायदेमंद होता हैं। इस गेंहू में पाए जाने वाले पौष्टिक तत्व, एन्टी ऑक्सीडेंट कई गंभीर बीमारियों से बचाव और दूर करने में सहायक होते हैं। दर्द मुक्ति के इस लेख में काले गेहूं की रोटी खाने के फायदे और नुकसान, पोष्टिक तत्वों एवं अन्य विशेषताओं के बारे में विस्तार से जानेगे।

kale gehu ki roti khane ke fayde or nuksan

काला गेहूं क्या हैं? – What is Black Wheat (kale Genhu) In Hindi?

काला गेंहू एक तरह का बीज होता हैं, जिसे खाद्य पदार्थ के रूप में खाया जाता हैं। काले गेंहूं की खास बात यह होती हैं कि यह अनाज की तरह घास पर नही उगता हैं। काला गेहूं क्विनोआ और ऐमारैंथ ग्रुप में शामिल हैं।

काले गेहूं के पौष्टिक तत्व – Kale Genhu Me Kya Paya Jata Hain In Hindi

ब्लैक गेहूं को पोषण की दृष्टि से बहुत ही लाभप्रद माना गया हैं। यह फाइबर का एक अच्छा स्त्रोत हैं। इसमे विटामिन B1, विटामिन B2, विटामिन B3, विटामिन B5, विटामिन B6 और विटामिन B9 मुख्य रूप से पाया जाता हैं। काले गेहूं में मैग्नीशियम, तांबा, लोहा, कैल्शियम, फास्फोरस, जिंक, पोटेशियम, सेलेनियम खनिज तत्व पाए जाते हैं। इसके अलावा काले गेंहू के सेवन से फोलिक एसिड और एमिनो एसिड भी प्राप्त होता हैं।

काले गेहूं की रोटी खाने के फायदे – Kale Genhu Ki Roti Khane Ke Fayde (Benefits) Hindi

काले गेहूं की रोटी खाने के फायदे इसमें मौजूद पौष्टिक तत्वों के कारण ही मिलते हैं। चलिए नीचे पढ़ते है इसके सेवन से मिलने वाले विशेष लाभ:-

मोटापे में काले गेहूं की रोटी के फायदे

मोटापे की समस्या में भी काले गेहूं के सेवन के अच्छे परिणाम देखने को मिले हैं। मोटापे का एक कारण अधिक भोजन करना हैं। काले गेहूं में फाइबर होता हैं। फाइबर युक्त भोजन पचाने में शरीर को अधिक समय लगता हैं। जिस कारण हमें अधिक भूख नही लगती और हम अति सेवन से बच जाते हैं। जिससे वजन नियंत्रित रहता हैं।

हार्ट के रोगों को करे दूर ब्लैक वीट

काले गेहूं का सेवन हार्ट से संबंधित बीमारियों के होने के खतरे को कम करता हैं। इसमें मैग्नीशियम की भरपूर मात्रा होती हैं, जो कोलेस्ट्रॉल के नियंत्रण में मदद करता हैं। इसके अलावा काले गेहूं में ट्राइग्लिसराइड तत्व होते हैं, जो दिल के लिए फायदेमंद हैं। यही कारण हैं लंबे समय तक दिल के स्वास्थ्य को बेहतर रखने के लिए काले गेहूं की रोटी को अपने भोजन में शामिल जरूर करें।

खून की कमी दूर होती हैं इसके सेवन से 

हमारे शरीर मे रक्त की कमी होने को एनीमिया बीमारी कहते हैं। काले गेहूं में आयरन, प्रोटीन, मैग्नीशियम तत्व होते हैं। यह तत्व इस शारीरिक समस्या को दूर करने में मददगार होते हैं। काले गेहूं की रोटी का सेवन करने से शरीर मे ऑक्सीजन का स्तर सही बना रहता हैं।

मधुमेह में काले गेहूं की रोटी खाने के फायदे

मधुमेह के मरीजों के लिए काले गेहूं की रोटी का सेवन अधिक फायदेमंद होता हैं। इसके गुण रक्त में शर्करा के स्तर को कम करने में मददगार होते हैं।

पेट की कब्ज में ब्लैक वीट सेवन के लाभ

काले गेहूं के आटे की रोटी का सेवन पाचन क्रिया को बेहतर बनाने में किया जा सकता हैं। इसमें फाइबर की उच्च मात्रा होती हैं। फाइबर युक्त भोजन कब्ज, गैस, अपच की समस्या को दूर करने में मददगार होता हैं। इसके नियमित सेवन से पाचनतंत्र को मजबूती मिलती हैं।

हाई ब्लड प्रेशर की समस्या में लाभकारी

काले गेहूं की रोटी खाने का फायदा हाई ब्लड प्रेशर के मरीजों को भी मिलता हैं। इसमे पाए जाने वाले तत्व रक्त प्रवाह को नियंत्रित करने के साथ-साथ रक्त में मौजूद अशुद्धियो को दूर करने का काम करते हैं।

आंतों के संक्रमण को दूर करता हैं काला गेहूं

आंतो में संक्रमण के कई कारण हो सकते हैं। इनमे से दूषित भोजन और आसानी से न पचने वाले भोजन का लगातार सेवन एक कारण हो सकता हैं। काले गेहूं की रोटी फाइबर युक्त पोष्टिक खाद्य पदार्थ हैं, जो इस तरह के संक्रमण को दूर करने में मदद करती हैं।

काले गेहूं की चपाती के फायदे पेट के कैंसर में 

काले गेहूं की रोटी खाने से पेट के कैंसर होने की संभावना कम हो जाती हैं। जैसा कि आप लेख के ऊपरी भाग में यह जान ही चुके हो कि काले गेहूं में फाइबर होता हैं। यह फाइबर पाचन संबंधित परेशानियों के अलावा पेट के कैंसर होने के खतरे को कम करता हैं 

कोलेस्ट्राल को कम करता है ब्लैक वीट 

शरीर मे बुरे कोलेस्ट्रॉल की मात्रा बढ़ जाने से कई गंभीर बीमारी होने का खतरा बढ़ जाता हैं। ऐसे काले गेहूं की रोटी के सेवन से बुरे कोलेस्ट्रॉल को कम और अच्छे कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाया जा सकता हैं। काले गेहूं में असंतृप्त वसीय अम्ल और फाइबर होता हैं, जो कोलेस्ट्रॉल के स्तर को नियंत्रित करने में मदद करता हैं।

काले गेहूं की रोटी के फायदे बढ़ते तनाव में

आज की व्यस्ततम लाइफ में लगभग हर व्यक्ति तनाव में रहता हैं। कई लोग इस समस्या को दूर करने के लिए दवाइयों का सेवन भी करते हैं। काले गेहूं की रोटी के सेवन के तनाव की समस्या में बहुत ही अच्छे रिजल्ट देखने को मिले हैं।

नई सेल्स के निर्माण में सहायक है काला गेहूं

काले गेहूं की रोटी पोषक तत्वों से भरपूर होती हैं। इसमे फास्फोरस तत्व मौजूद होता हैं। यह तत्व शरीर मे नए सेल्स, ऊतकों के निर्माण करने में सहायक होता हैं।

काले गेहूं का उपयोग के तरीके – Kale Genhu Ke Upyog ke Tarike In Hindi

इसके सेवन के कुछ तरीके नीचे बताये गए हैं :-

  1. काले गेहूं का इस्तेमाल अनाज चायेंनतो में किया जा सकता हैं।
  2. इसके आटे की चपाती बनाई जा सकती हैं।।
  3. काले गेहूं से बने नुडल्स का सेवन आप कर सकते हैं।
  4. काले गेहूं के दलिया बनाकर आप खा सकते हैं।
  5. इसके बीज को आप नमक वाले पानी में उबालकर खा सकते हो।

काले गेहूं के काले रंग का होने का कारण – Kale Genhu Ke Kale Hone Ka Karan

इस गेहूं के काले होने का मुख्य कारण इसमें एंथोसायनिन की अधिक मात्रा का होना हैं. सामान्य गेहूं में एंथोसायनिन की मात्रा पांच पीपीएम होती हैं, जबकि काले गेहूं में दौ सौ पीपीएम तक पाई जाती हैं. शुरुआत में जब यह बाली पर उगता हैं तब यह हरे रंग का होता हैं, लेकिन पकने पर यह काले रंग का दिखाई देने लगता हैं।

काले गेहूं की पैदावार – Kale Genhu Ki Utpadan Kaha Hota Hain

इस गेहूं की सबसे अधिक पैदावार चीन , रूस, कजाकिस्तान, मध्य और पूर्वी यूरोप में होती हैं। भारत में इसका उत्पादन सबसे पहले उत्तरप्रदेश के किसान नरेश कुमार शर्मा ने किया। उनके अनुसार लगभग आधा बीघा जमीन में 2 किवंटल गेहूं का उत्पादन हुआ।

काले गेहूं की रोटी खाने के नुकसान – Kale Genhu Ki Roti Khane Ke Nuksan In Hindi

यदि देखा जाये तो काले गेहूं की रोटी का सेवन हमारे लिए फायदेमंद अधिक होता हैं. फिर भी अति सेवन और कुछ विशेष परिस्तिथियों इसे खाने के नुकसान को नजरअंदाज नही किया जा सकता.

  1. काले गेहूं में फाइबर होने के कारण इसका संतुलित मात्रा में सेवन लाभदायक होता हैं, लेकिन फाइबर की बहुत अधिक मात्रा को पचाने में पाचनतंत्र असमर्थ हो सकता हैं।
  2. यदि इसके सेवन के तुरंत बाद कोई एलर्जी हो तो, डॉक्टर की सलाह से इसका सेवन करें।
  3. काले गेहूं के अति सेवन से मतली, दस्त की शिकायत हो सकती हैं।
  4. इसे कच्चा न खाए इससे पेट दर्द, अपच की समस्या हो सकती हैं।

दर्द मुक्ति के इस लेख में आपने काले गेहूं की रोटी खाने के फायदे और नुकसान (Kale Gehu Ki Roti Khane Ke Fayde Or Nuksan) के बारे में जाना। इसके अलावा आपने काले गेहूं के पौष्टिक तत्व, उत्पादन, उपयोग के तरीके और विशेषता के बारे में पढ़ा। उम्मीद करते हैं, आपके लिए यह जानकारी उपयोगी साबित होगी। यदि आप अपने मित्रो और प्रियजनों को इस जानकारी से अवगत करना चाहते हैं, तो इसे शेयर जरुर करियेगा.

और पढ़े:-

मक्के की रोटी खाने के जबरदस्त फायदे

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top